खोजें
हिंदी
सभी श्रेणियाँ
    Menu Close

    शांतिधारा पंचतिक्त घृत

    लाभ -
    शरीर के विषाक्त पदार्थों से दूर करता है, अल्सर (Non healing Ulcer), कुष्ठ, एक्जिमा, कृमि नाशक एवं पित्त और कफ दोष का शमन करता है। पाण्डु, कामला , यक्ष्मा एवं जीर्णज्वर आदि रोगों में लाभकारी।

    मुख्य घटक -
    गौघृत, नीम
     की छाल, पटोलपत्र, कटेरी पंचांग, वासा का पंचांग, गिलोय, हरड़, बहेड़ा, आँवला।

    सेवन विधि -
    5 ml घृत
     दिन में 2 बार, खाली पेट मिश्री के साथ चाटकर ऊपर से गाय का दूध पीयें अथवा चिकित्सीय परामर्शानुसार।

    *
    ₹ 500.00
    h i
    डिलीवरी की तारीख: 5-8 दिन
    विवरण

    लाभ -
    शरीर के विषाक्त पदार्थों से दूर करता है, अल्सर (Non healing Ulcer), कुष्ठ, एक्जिमा, कृमि नाशक एवं पित्त और कफ दोष का शमन करता है। पाण्डु, कामला , यक्ष्मा एवं जीर्णज्वर आदि रोगों में लाभकारी।

    मुख्य घटक -
    गौघृत, नीम
     की छाल, पटोलपत्र, कटेरी पंचांग, वासा का पंचांग, गिलोय, हरड़, बहेड़ा, आँवला।

    सेवन विधि -
    5 ml घृत
     दिन में 2 बार, खाली पेट मिश्री के साथ चाटकर ऊपर से गाय का दूध पीयें अथवा चिकित्सीय परामर्शानुसार।