Search
English (Select Language)
All Categories
    Menu Close

    Aao Lok Ki Sair Kare

    इस विशाल लोक के पटांगन में देवलोक कहाँ है, नरक कहाँ है, पृथ्वीलोक कहाँ है, पानी कहाँ है, पर्वत कहाँ हैं, मोक्ष कहाँ हैं? तथा इस
    भव्य लोक के मध्य में स्थित मेरु पर्वत के दोनों तरफ रहे हुए असंख्य द्वीप समूहों का और मेरु पर्वत के ऊपर ज्योतिष्क विमानों, लोकाग्र पर स्थित सिद्धशिला आदि को सरल भाषा में चित्रों के माध्यम से बताया गया है। वर्तमान विज्ञान एवं आगम की तुलना के भी सुन्दर चित्र दिये गये हैं। इस भव्य चित्रमय ग्रन्थ में दिए गए अनेक नक्शे, शिविरों और ज्ञानशाला में पढ़ाने योग्य हैं|

    Availability: 5 in stock
    ₹ 400.00
    h i
    Delivery date: 5-8 days
    Description

    इस विशाल लोक के पटांगन में देवलोक कहाँ है, नरक कहाँ है, पृथ्वीलोक कहाँ है, पानी कहाँ है, पर्वत कहाँ हैं, मोक्ष कहाँ हैं? तथा इस
    भव्य लोक के मध्य में स्थित मेरु पर्वत के दोनों तरफ रहे हुए असंख्य द्वीप समूहों का और मेरु पर्वत के ऊपर ज्योतिष्क विमानों, लोकाग्र पर स्थित सिद्धशिला आदि को सरल भाषा में चित्रों के माध्यम से बताया गया है। वर्तमान विज्ञान एवं आगम की तुलना के भी सुन्दर चित्र दिये गये हैं। इस भव्य चित्रमय ग्रन्थ में दिए गए अनेक नक्शे, शिविरों और ज्ञानशाला में पढ़ाने योग्य हैं|

    Products specifications
    Products specifications
    Author / PublicationAcharyashree Vijayraj Ji Ma. Sa.
    LanguageHindi
    Pages144
    Customers also bought
    Picture of Gents Charwala Sthanakvasi - Punjani (DZ02)
    Picture of Terapanthi Mupatti

    Terapanthi Mupatti

    From ₹ 8.00
    Picture of Ashtmangal Sapda

    Ashtmangal Sapda

    ₹ 210.00 ₹ 195.00
    Picture of Gents Charwala Desi Unn - DZ02 (Size - 16 inch)