Search
English (Select Language)
All Categories
    Menu Close

    Sachitra Shri Niryavalika Tatha Shri Vipaak Sutra

    इस जिल्द में एक साथ छह आगम हैं। निरयावलिया आदि पाँच उपांग तथा ग्यारहवाँ अंग विपाक श्रुत। विपाकश्रुत में हिंसा आदि अशुभ कर्मों का कटुफल तथा दान, तप आदि शुभ कर्मों का शुभ फल बताने वाले रोचक चरित्र हैं।

    Availability: 100 in stock
    ₹ 800.00
    h i
    Delivery date: 5-8 days
    Description

    इस जिल्द में एक साथ छह आगम हैं। निरयावलिया आदि पाँच उपांग तथा ग्यारहवाँ अंग विपाक श्रुत। विपाकश्रुत में हिंसा आदि अशुभ कर्मों का कटुफल तथा दान, तप आदि शुभ कर्मों का शुभ फल बताने वाले रोचक चरित्र हैं।

    Products specifications
    Products specifications
    Author / PublicationShree Amar Muni
    LanguageHindi